भारत जोड़ो ऑल इंडिया मुशायरा

Comments · 188 Views

कल टाकरखेडा शंभु में भारत जोडो ऑल इंडिया मुशायरा व कवि-सम्मेलन

*मुस्लिम समाज के सियासी गुलाम..?*

 

हमारे समाज को गुलामी की आदत पड़ चुकी है! समाज का उच्च वर्ग उद्योगपति , बुद्धिजीवी जो अपने आप को बहुत होशियार समझते हैं , उच्च शिक्षित पढ़ा लिखा , और मनचले जो अपनी जिंदगी में मस्त है! उन्हें किसी भी चीज की कोई चिंता नहीं देश में क्या हो रहा है ऐसी युवा पीढ़ी यह सब गुलामी की जंजीरों में जकड़ चुकी है!

इन्हें इस बात का एहसास ही नहीं क्या हमारी भी एक ताकत होनी चाहिए हमारी भी एक ऐसी जमात होनी चाहिए हमारी भी एक लीडरशिप होनी चाहिए!

 

*बस सब लगे हुए है....??*

 

१) .. कोई भाऊ की गुलामी में लगा हुआ है आगे पीछे पीछे भाऊ भाऊं भाऊं

 

२).. कोई दादा को अपना सब कुछ मान बैठा है! दादा दादा दादा

 

३).. कोई ताई को अपनी जिंदगी समर्पित कर चुका है!

 

इन तीनों किस्म के लोगों के दिलों दिमाग में सिर्फ और सिर्फ जी हुजूरी हा जी साहब भाऊ ताई दादा यह भर चुका है! इन लोगों का जमीर मर चुका है! कभी शायद तन्हाई में यह लोग सोचते होंगे की क्या हम सही कर रहे हैं क्या गलत कर रहे हैं इनकी सोचने और समझने की सलाहियत भी गुलाम बन चुकी है!

मुझे नहीं लगता कि अब यह लोग अपने दिलों दिमाग जो इनका गुलामी में फस चुका है शायद इस गुलामी के दलदल से यह लोग निकल पाएंगे! क्या पता उनकी आने वाली नस्लों में भी उनके खून में भी गुलामी का ही खून दौड़ेगा... मैं तो सिर्फ अल्लाह से यही दुआ करता हूं कि हमारे समाज को यह समझ में आ जाए कि हमारी भी एक ताकत सियासी पार्टी एक लीडर होना चाहिए..!

 

...✍️

 

*डॉ असलम भारती*

*सोशल एक्टिविस्ट* 

*अमरावती*

Comments
SHER E HIND news 8 w

Good